Home Business guide Business planing in hindi - business ki planning kaise kare?

Business planing in hindi – business ki planning kaise kare?

यदि आप इस टुटोरिअल को पढ़ रहे हैं। तो सम्भव है की आप खुद का business कर रहे हैं या बिज़नेस शुरू करना चाते हैं। किसी भी बिज़नेस को स्टार्ट करने के लिए पहले बिज़नेस को प्लान करना आवश्यक है। इसीलिए इस टुटोरिअल ( Business planing in hindi – business ki planning kaise kare? ) में हम आपको सिखाएंगे की आप अपने बिज़नेस के लिए Business plan कसे तैयार करें।

बिज़नेस प्लानिंग क्या है ? – What is Business Planning in   hindi ?

What is business planing in hindi ?

व्यवसाय की प्रकृति, बिक्री और प्रचार की रणनीति का वर्णन करने वाला एक लिखित दस्तावेज, और जिसमें लाभ और हानि की अनुमानित वितरण की जानकारी भी शामिल हो।

business plan एक रोड मैप है। जो आपके बिज़नेस को दिशा-निर्देश प्रदान करता है, ताकि व्यवसाय अपने भविष्य की योजना बना सके और यह भविष्य में आने वाली प्रॉब्लम से बचने में मदद करता है। 

बिज़नेस प्लानिंग क्यों जरुरी है। – Why Business Planning is Important

  • यदि आपने अपना बिज़नेस प्लान लिखित रुप में सही से बनाया है और उसे आपके समय-समय पर अपडेट करते हैं तो बिज़नेस की सफल होने की सम्भावना बढ़ जाती है।
  • मनी मैनेजमेंट (फंड एलोकेशनफंड) के कारण बहुत से बिजनेस कुछ ही समय में फेल हो जाते हैं यदि आपने बिजनेस प्लेन में मनी मैनेजमेंट सही रूप से किया है तो आपको पैसों से संबंधित आने वाली दिक्कतों से सामना करने में आसानी होगी। 
  • बिज़नेस सुरु करने के लिए रुपए की आवश्यकता होती है। यदि आपके पास पर्याप्त रुपए नहीं हैं, तो आप बैंक लोन के लिए जाते हैं। जिसके लिए लिखित रूप में बिज़नेस प्लान होना अतियंत आवश्यक है।
  • यदि आप अपना बिजनेस शुरू कर रहे हैं। तो जाहिर है आपका बिजनेस अभी छोटा होगा भविष्य में आपको अपने बिजनेस को अगले स्तर पर ले जाने के लिए रुपए की आवश्यकता होगी। यदि आप इसके लिए फंड रेस करते हो तो उसके लिए आपके बिजनेस प्लान का सही रूप में होना आवश्यक है।
  • आज सरकार नए बिज़नेस को स्कीम या सब्सिड़ी द्वारा मदद कर रही है। सरकार के द्वारा करी जा रही मदद का लाभ पाने के लिए बिज़नेस प्लान का होना अनिवार्य है।

बिजनेस प्लान कैसे बनाए- How to Write a Business Plan in hindi 

बिजनेस के बारे में पूरी जानकारी डिटेल में लिखें

यदि आपको बिजनेस प्लान तैयार करना है तो सबसे पहले आप अपने बिजनेस के बारे में पूरी जानकारी डिटेल में लिखें जिससे किसी को भी आपके बिज़नेस के बारे में जानने में आसानी हो।

बिज़नेस का vision लिखित रूप में होना चाहिए 

business एक इकोसिस्टम होता है। एक ऐसा इकोसिस्टम जिसमें एक या एक से अधिक लोग अलग-अलग काम किसी एक उदेश्य (vision) के लिए करते हैं इसीलिए यदि आपके बिजनेस का उद्देश्य लिखित रूप में मौजूद है तो उस रास्ते पर चलना आपके और आपकी टीम के लिए आसान हो जाता है।

प्रोडक्ट या सर्विस का विवरण अवश्य लिखें

हर बिजनेस की स्ट्रैंथ उसका प्रोडक्ट या सर्विस होती है। इसीलिए बिजनेस शुरू करने से पहले लिखित रूप में प्रोडक्ट या सर्विस का विवरण अवश्य लिखें।

बिजनेस स्ट्रक्चर डिटेल में लिखना होगा 

आपके बिजनेस के अंदर कितने लोग काम करेंगे कौन क्या काम करेगा और किसकी आमदनी कितनी होगी यह सारी जानकारी आपको अपने बिजनेस स्ट्रक्चर के अंदर डिटेल में लिखनी होगी।

मार्केटिंग स्ट्रैटेजी का विवरण

आपको अपने बिजनेस की मार्केटिंग स्ट्रेटजी के बारे में पहले से ही प्लानिंग करनी जरूरी है। क्योंकि बिजनेस के प्रोडक्ट के बारे में आपका कस्टमर मार्केटिंग के द्वारा ही अवगत हो पाएगा। मार्केटिंग के लिए आपको लिखित रूप में एक स्ट्रैटेजी का निर्माण करना होगा। और उसे एक लिखित रूप देना होगा।

फंड एलोकेशन प्लान करना है

फंड एलोकेशन बिज़नेस प्लानिंग का सबसे महत्वापूर्ण पहलू है। इसे आपको पूरी सावधानी के साथ तयार करना होगा। फंड एलोकेशन का मतलब है इनिशियल कैपिटल का वितरण, यानि की आप अपने इनिशियल कैपिटल का कितना हसा बिज़नेस के किस काम में  लगाओगे। 

आपने क्या सीखा?

आज के इस ट्यूटोरियल में हमने आपको बताया कि बिजनेस के लिए पूर्व में प्लानिंग करना कितना आवश्यक है और आपने शिखा की प्लानिंग में इन चीजों को विशेष रूप में शामिल किया जाता है। 

हमें पूर्ण विश्वास है कि आपको हमारे इस ट्यूटोरियल Business planing in hindi – business ki planning kaise kare? से मदद मिली होगी साथ ही आप अपने बिजनेस की प्लानिंग करने में सफल होंगे और भविष्य में बहुत तरक्की करेंगे। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Demat and Trading account (Upstox) कैसे खोलें?

क्या आप Demat and Trading account खोलना चाते हैं? लेकिन आपको अकाउंट खोलना नहीं आता, कोई बात नहीं।  हम आपको आसान भाषा में डीमैट अकाउंट...

Demat account क्या है?

भारत में Demat account, 1996 में शुरू किया गया। जिसने भारतीय शेयर बाजार की दिशा को एक नई तेजी दी। डीमैट अकाउंट शुरू किए...

Intraday Trading क्या होती है? Intraday Trading कैसे शुरू करे?

सरल भाषा में Intraday Trading का मतलब होता है एक ही दिन में स्टॉक खरीदना और बेचना। इंट्राडे ट्रेडिंग, में कंपनी के शेयर को निवेश...

IPO क्या है?

IPO क्या है? क्या आप IPO के बारे में संक्षिप्त में जानना चाहते हैं? चलिए हम आपको बताते हैं की IPO क्या है? और...

Recent Comments