Home Business ideas dairy farming in hindi

dairy farming in hindi

How to start dairy farming in hindi ?

dairy farm लगाना बहुत ही आसान तरीका का इसके लिए आपको थोड़ी तो मेहनत करनी ही होगी क्योंकि जिस काम मे ईमानदारी होती है उसमें ही सफलता मिलती है, डेयरी फार्म लगाना बहुत ही आसान हो चुका है और अब तो सरकार भी लोन देती है राज्य सरकार व केंद्र सरकार दोनों से अच्छी खासी डेयरी फार्म लगाने के लिए आप लोन ले सकते है, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत भी आप लोन ले सकते है।

डेयरी लगाने है अगर आपको तो डेयरी के बारे में जानना बहुत जरूरी है किस तरह के गाय व बकरी अपने फार्म में रखे जिससे आपको फायदा हो, और आप क्या खिलाये की गाय या भैंस अधिक दूध दे व गोबर का किस तरह से खाद बना सकते है इसकी जानकारी होना बहुत जरूरी है। डेयरी में साफ कैसे रखे जिसे पशु बीमार न हो इसकी भी जिम्मेदारी रखनी होती है जिसे किसी भी तरह की लापरवाही न हो, और पालतू पशु सुरक्षित रहें।

डेयरी फार्म आज के समय मे एक अच्छा कारोबार हो सकता है यदि आप मेहनत करते है, क्योकि आत्मनिर्भरता की बात कही जाती है तो हम लोकल फ़ॉर वोकल की ओर देखते है और ऐसे में लोकल फ़ॉर वोकल करने में डेयरी फार्म बहुत ही उपयोगी साबित होगा।

राष्ट्रीय डेयरी योजना :

देश मे दुग्ध उत्पादन को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने डेयरी फार्म को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय डेयरी योजना (NDP) की शुरुआत 2012 में किया, इसमें 17 हजार करोड़ रुपये लगाये गए और यह योजना आज सफल रहा है। साथ ही केंद्र सरकार ने पशु पोषण एप्पलीकेशन का शुभारंभ किया है जिसे किसानों का आय दुगनी हो और खेती के साथ dairy farming कर सके व दुग्ध उत्पादन कर अपने नजदीक में बेंच सके, केंद्र सरकार ने विभिन्न परीक्षण केंद्र भी खोले है जिसे आप प्रशिक्षित हो सकते है।

ऑपरेशन फ्लड क्या है?

dairy farming का उद्देश्य एक यह रहा है कि हम दुग्ध के मामले में इतने सशक्त हो जाए कि हमें किसी दूसरे देश की जरूरत महसूस न हो इसी उद्देश्य से ऑपरेशन फ्लड की शुरूआत हुआ है। श्वेत क्रांति की सहायता से भारत ने दुनिया के सबसे बड़े दुग्ध उत्पादन करने का लक्ष्य को सिद्ध किया है।

dairy farming के लिए गाय भैंस का चुनाव कैसे करें?

डेयरी फार्म के लिए गाय या भैंस का उन्नत नश्ल का होना बहुत जरूरी है, नेशनल डेयरी रिसर्च इंस्टीट्यूट (NDRI) ने उन्नत नश्ल के लिए बहुत ही सराहनीय कदम उठाया है, इस योजना का क्रियान्वयन भी हुआ और बंझा का जो कयास लगाया जाता रहा है वह मिथक टूट गया है। गाय के बहुत से उन्नत नश्ल है उसमें शीर्ष में सहिवाल, जर्सी, गीर, करन फ्राइ व लाल सिंध आदि उचित व उन्नत नश्ल के गाय है जिसका चुनाव आप डेयरी के लिए कर सकते है। भैंस के भी बहुत से नश्ल है देशी भैंस या फिर ब्रीड वाले भैंस लगभग समान दूध देते है, ऐसे में गाय व भैंस का चुनाव ध्यानपूर्वक करें।

डेयरी के कैसे बनाये?

• डेयरी के लिए आपको साफ सुधरे जगह का चुनाव करना होगा, जिससे आप गाय भैंस की सेवा आसानी से कर सके व उसका सुरक्षा ध्यान रखें।

• डेयरी में पानी की 24×7 व्यवस्था होना चाहिए, जिसे पशुओं को पर्याप्त मात्रा में समय समय पर पानी मिल सकें।

• गोबर व मूत्र का निपटारा की व्यवस्था सुरक्षित रूप से होना चाहिए।

• अलग अलग पशुओं के लिए दाना-पानी के लिए अलग अलग छोटी छोटी टंकी जहाँ बंधे होते है वहाँ पर होना चाहिए।

• पशुओं को मच्छर व मक्खी से बचाव के लिए पंखे की व्यवस्था होनी चाहिए।

• पर्याप्त मात्रा में पशुओं के लिए चारा, भूंसा, पैरा (सूखा घास) सूखा घास को हेय कहते है इसमें हरे चारे जितना पौस्टिक होती है।

• नाली व निकास की सुव्यवस्था होनी चाहिए।

डेयरी फार्म में खाद कैसे बनायें?

dairy farming करते है तो दुग्ध उत्पादन के साथ साथ खाद का भी फायदा हो जाता है मार्केट में आज कम्पोस्ट खाद का बहुत महत्व है और इसकी मांग भी बढ़ रहा है ऐसे में गाय या भैंस के गोबर से खाद भी बनाया जा सकता है। खाद बनाने के लिए आपको टँकी या फिर एक गड्ढे खोदना पड़ेगा व उस टँकी में या गड्ढे में थोड़ा मिट्टी व गोबर व पशुओं के मलमूत्र को डालकर कुछ दिनों तक रहने देना है फिर उसमें केचुआ डालते है फिर वह कम्पोस्ट खाद में बदल जाता है इसे आप किसी को बेंच सकते है या फिर आप अगर फार्मिंग करते है तो फसल में भी डाल सकते है, ऑर्गेनिक खेती के लिए इसका उपयोग बहुत ज्यादा में होता है।

dairy farming के लिए आप प्रधानमंत्री मुद्रा लोन के तहत आप पशुपालन के लिए केंद्र सरकार से 12%तक का लोन ले सकते है, और राज्य सरकार से सब्सिडी भी मिलती है। dairy farming में केंद्र व राज्य दोनों सरकार से सब्सिडी मिलती है और डेयरी फार्म में फायदा भी है।

dairy farming के लाभ :

• डेयरी फार्म से आपको आय का जरिया मिलता है।

• डेयरी फ़ार्म से दुग्ध उत्पादन के साथ साथ आप खाद का उत्पादन कर सकते है।

• NABRAD स्किम के तहत आप बैंक से लोन ले सकते है व अपने कारोबार को बढ़ा सकते है।

• इंडिया की जलवायु बहुत अच्छी है ऐसे में आप विदेशी नश्ल के उन्नत नश्ल के गाय व भैंस का पालन भी कर सकते है।

• बेरोजगार युवाओं के लिए यह बिज़नेस बहुत ही सुंदर व स्पष्ठ है।

dairy farming के ऐसी योजना है जिसकी शुरुआत बहुत पहले हो चुका था और छोटे व बड़े सभी तरह के किसान इसे करते है, dairy farming को हम मिश्रित खेती भी कहते है dairy farming में गाय के साथ साथ मुर्गी पालन व मत्स्य पालन भी करते है, आज के समय मे अगर इनकम डबल करना है ऐसे समय मे डेयरी फॉर्मिंग करना चाहिए। डेयरी फार्म के साथ खेती के भी फायदे है जो गोबर व मलमूत्र मिलता है उसका खाद पदार्थ भी बना सकते है जिसे डेयरी फार्म में आपको बहुत सहायक सिद्ध होगा। dairy farming के लिए आपकी योजना का होना बहुत जरूरी है नही तो भोजन की कमी से पशुओं पर इफ़ेक्ट होता है, उच्च बुनियाद ढांचा विकसित करें व पशुओं की उपलब्धता का ध्यान रखना जरूरी है। कृषि विज्ञान केंद्र अनुसंधान से फार्मिंग की ट्रेनिंग ले सकते है साथ ही आप फ़ूड स्ट्रक्चर को फॉलो कर सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

vijay mallya (kingfisher)

dairy farming in hindi

laghu udyog kya hai

mudra loan

Recent Comments